‘ट्री आउट साइड फॉरेस्ट एरिया’ कार्यक्रम

ट्री आउटसाइड फॉरेस्ट एरिया

ट्री आउटसाइड फॉरेस्ट एरिया

भारत की वन स्थिति रिपोर्ट 2021 से पता चलता है कि 2,261 वर्ग किलोमीटर तक वन और वृक्षों के आवरण में वृद्धि के साथ-साथ भारत के बढ़ते स्टॉक में वृद्धि हुई है। इस वृद्धि का अधिकांश कारण वनों के बाहर वृक्षों टीओएफ (TOF) के तहत क्षेत्र में वृद्धि के कारण हुआ है।

टीओएफ (TOF) महत्वपूर्ण नवीकरणीय संसाधनों में से एक है जो जलवायु परिवर्तन के शमन में योगदान देता है, क्योंकि पूरी दुनिया में जंगल का हर क्षेत्र कार्बन को अवशोषित करता है। भारत में वनाच्छादन बढ़ाने के लिए भारत सरकार द्वारा 9 सितम्बर, 2022 को “भारत में वन के बाहर पेड़ ” (TOFI) योजना शुरू की गई है।

इसी तर्ज पर राज्य सरकार द्वारा बजट 2023-24 में “राजस्थान में वन के बाहर पेड़ ” (TOFR) योजना की घोषणा की गई है। योजना के तहत वन क्षेत्रों के बाहर हरियाली बढ़ाने के लिए वर्ष 2023-24 में विभिन्न विभागों, संस्थाओं तथा नागरिकों के सहयोग से 5 करोड़ पौधे लगाये जायेंगे। इसमें से 1 करोड़ पौधे गोचर, ओरण तथा चारागाह, 1 करोड़ पौधे विभिन्न शहरी क्षेत्रों में तथा 3 करोड़ पौधे जन साधारण को अपने घरों, खेतों इत्यादि में लगाने के लिए उपलब्ध कराये जायेंगे ।

ट्री आउटसाइड फॉरेस्ट एरिया योजना का उद्देश्य

  • पारम्परिक वनों के बाहर वृक्षों के कवरेज को विस्तारित करना
  • राज्य में किसानों की आय में वृद्धि करते हुए कृषि प्रणालियों के लचीलेपन को मजबूत करने के लिए कृषि वानिकी का उपयोग करना
  • रोजगार सृजन एवं आय में वृद्धि करना
  • वृक्ष आधारित उद्यमों में बढ़ोत्तरी एवं कार्बन क्रेडिट की बिकी को बढ़ावा देने के लिए निजी क्षेत्र को प्रोत्साहित करना एवं पारिस्थितिकीय तंत्र सेवाओं का सृजन, वैश्विक जलवायु परिवर्तन शमन और अनुकूलन लक्ष्यों का समर्थन करने के लिए राजस्थान में वन भूमि के बाहर वृक्षारोपण को बढ़ाना है।

राज्य वन नीति 2023 में निर्धारित वनस्पति आवरण को कुल भौगोलिक क्षेत्र के 20 प्रतिशत तक बढ़ाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बजट 2023-24 में अब वन क्षेत्र के बाहर वृक्षारोपण Trees Outside Forests in Rajasthan (TOFR) प्रोत्साहित करने के लिये ग्राम पंचायतों, नगरीय निकायों एवं जन साधारण के सहयोग से राज्य के 33 जिलों में एक वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया जाएगा।

वन विभाग की नर्सरियों से पौधे खरीदने के लिए ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था की गई है।
पौधे खरीदने हेतु विभाग की वेबसाइट – aaranyak forest.rajasthan.gov.in / और fmdss.forest.rajasthan.gov.in

  • इन वेबसाइट के माध्यम से पौधे और नर्सरी का चयन करना होगा।
  • इसके बाद संबंधित नर्सरी से पौधे प्राप्त किए जा सकते हैं।
  • इसके लिए उपयोगकर्ता की SSO id होना आवश्यक है।
  • वन विभाग ने आमजन तक पौधों की पहुंच बढ़ाने के लिए यह सुविधा शुरू की है।
  • प्रदेश में वन क्षेत्रों के बाहर हरियाली बढ़ाने के लिए विभित्र विभागों, संस्थाओं और नागरिकों के सहयोग से 5 करोड़ पौध लगाने का लक्ष्य गया है।
  • FMDSS mobile Application के माध्यम से भी यह सुविधा प्राप्त की जा सकती है |
  • मोबाइल एप डाउनलोड करने हेतु निर्देश click

Download PDF

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: © RajRAS