‘‘राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह” अभियान का शुभारम्भ

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह

भारत में लोगों को सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूक करने और सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्देश्य से 18 जनवरी 2021 को देश के पहले ‘‘राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह” अभियान का शुभारम्भ किया गया। पिछले कुछ वर्षों से लगातार सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जा रहा था, लेकिन मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए, इस साल जागरूकता अभियान का आयोजन महीनेभर तक करने की योजना बनाई गई है।

राजस्थान में परिवहन मंत्री श्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने ‘‘राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह” अभियान का शुभारम्भ किया।

अभियान का शुभारम्भ करते हुए अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा की सड़क दुर्घटना होने पर तमाशबीन बनकर खडे़ रहना या वीडियो बनाते रहना अमानवीय है। ऎसे में हर व्यक्ति को एक आदर्श सभ्य नागरिक (गुड सेमेरिटन) की भूमिका अदा करनी चाहिए और घायल को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाना चाहिए। परिवहन विभाग ऎसे व्यक्तियों को प्रशस्ति पत्र और पुरस्कार देकर सम्मानित करेगा। इसी प्रकार पंचायत स्तर पर परिवहन अग्रदूत बनाने का कार्य भी प्रारम्भ किया जाएगा। इसी तरह केन्द्रीय मोटर व्हीकल एक्ट के अत्यधिक बढे हुए जुर्मानों के सम्बन्ध में भी समीक्षा की जाएगी।

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के दौरान होने वाले विभन्न सुधार कार्यक्रम:-

हाईवे कम्पनियों की जिम्मेदारी होगी तय

सड़क सुरक्षा सभी सम्बन्धित विभागों के समन्वय से ही संभव है। सड़कों का निर्माण, उनकी देखभाल करने वाली और टोल वसूलने वाली एजेंसियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी और सुनिश्चित किया जाएगा कि वे सड़कों का ठीक से रखरखाव करें। ब्लैक स्पॉट और रोड इंजीनियरिंग की खामियां सुधरवाई जाएंगी।

कॉलोनियों में ठीक होंगे अंधे मोड

पिछले कुछ समय से कॉलोनियों में भी अंधे मोड और दुर्घटनाएं बढ़ी हैं। ऎसे में नगर निगम, जेडीए एवं अन्य विकास कार्य करने वाली एजेंसियों के साथ इन्हें ठीक करने के बारे में निर्णय किया जाएगा। इसके साथ ही जयपुर के और अधिक स्थानों पर कैमरे लगाने का काम प्रारम्भ होगा जिससे सड़क दुर्घटनाओं और अपराधों में कमी आ सकेगी।

राजस्थान रोडवेज देशभर में लगातार दूसरे वर्ष फिर सबसे सुरक्षित

राजस्थान रोडवेज को लगातार दूसरे वर्ष सबसे कम दुर्घटनाओं के लिए देशभर में पहला स्थान मिला है। श्री खाचरियावास ने कहा कि पूर्व में कुछ बसों में निर्भया पैनिक बटन लगाए गए थे लेकिन अब सभी बसों में रोड सेफ्टी निर्भया पैनिक बटन लगाए जाएंगे।

हाईवे के नजदीक पीएचसी को एम्बुलेंस

हाईवे के नजदीक ग्रामों में डिस्पेंसरियों पर सड़क दुर्घटना की स्थिति में उपचार के लिए एम्बुलेंस आदि संसाधन दिए जाएंगे जिससे घायलों को समय पर उपचार मिल सके।

नुक्कड़ नाटक का मंचन, सड़क सुरक्षा शपथ, वाहन रैली

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के शुभारम्भ पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सड़क सुरक्षा गान ‘‘शहर-सड़क या गांव गली’’ प्रस्तुत किया गया। रसरंग मंच द्वारा नुक्कड़ नाटक “फर्क तो पड़ता है भाई” की प्रस्तुति दी गई। परिवहन मंत्री ने उपस्थितों को सड़क सुरक्षा शपथ भी दिलाई। इस मौके पर साईकिल एवं मोटरसाइकिल रैली भी निकाली गई। जिसे हरी झण्डी दिखाने के साथ ही परिवहन मंत्री श्री खाचरियावास ने भी साईकिल चलाकर रैली में हिस्सा लिया। निर्भया स्क्वाड एवं अन्य वाहन भी रैली में शामिल थे। एक सेल्फी कॉर्नर भी बनाया गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: © RajRAS