राजस्थान समसामयिकी मार्च 2022

राजस्थान समसामयिकी मार्च 2022

राजस्थान समसामयिकी मार्च 2022

नव भारत साक्षरता कार्यक्रम

1 अप्रैल 2022 से प्रारंभ होने जा रहा नव भारत साक्षरता कार्यक्रम एक पंचवर्षीय कार्यक्रम है तथा इसका मुख्य उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र संघ की गाइडलाइंस के अनुसार 2030 तक देश के 15 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के सभी महिला एवं पुरुषों को साक्षर बनाना है। इस कार्यक्रम हेतु भारत सरकार द्वारा 1037.9 करोड़ की राशि का प्रावधान रखा गया हैं। इस कार्यक्रम में प्रदेश में बालिका, महिला, दलित, आदिवासी, पिछड़ों, दिव्यांग, अल्पसंख्यकों एवं वंचित वर्गों को प्राथमिकता दी जाएगी । प्रथम चरण में 15 से 35 आयु वर्ग के असाक्षर नागरिकों को साक्षर बनाने पर ध्यान दिया जाएगा।

इस कार्यक्रम में डिजिटल माध्यम तथा विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म का उपयोग साक्षरता के प्रसार हेतु किया जाएगा। कार्यक्रम में साक्षरता के साथ पोषण, वित्तीय प्रबंधन, जीवन कौशल, व्यवसायिक शिक्षा, बाल स्वास्थ्य, सड़क सुरक्षा इत्यादि विभिन्न पहलुओं के समबन्ध में शिक्षा दी जाएगी जिसके लिए विभिन्न विभागों के सहयोग से कार्य किया जाएगा।

डॉ. देव स्वरूप

7 मार्च 2022 को राज्यपाल श्री कलराज मिश्र ने आदेश जारी कर हरिदेव जोशी पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के कुलपति का अतिरिक्त कार्यभार अग्रिम आदेशों तक डॉ. भीमराव अम्बेडकर विधि विश्वविद्यलालय के कुलपति डॉ. देव स्वरूप को प्रदान किया है।

Read in English

डॉ. अर्चना शर्मा

4 मार्च 2022 को डॉ. अर्चना शर्मा ने राजस्थान राज्य सरकार के समाज कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष पद का कार्यभार ग्रहण किया।

मिशन इंद्रधनुष अभियान 4.0 का द्वितीय चरण

7 मार्च 2022 से प्रदेश भर में टीकाकरण से वंचित गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों के टीकाकरण के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान 4.0 का द्वितीय चरण चलाया जायेगा। 7 से 13 मार्च तक चलने वाले इस सात दिवसीय अभियान के तहत 4 हजार से ज्यादा सत्रों का आयोजन कर टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों के टीके लगाए जाएंगे।

लोकगीत गायिका बतुल बेगम

8 मार्च 2022 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोंविंद ने महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिए नई दिल्ली में राजस्थान की मांड और भजन लोकगीत गायिका बतुल बेगम को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया। यह पुरस्कार उन्हें भारतीय लोक संगीत को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलवाने के लिए दिया गया।

श्रीमती कौशल्या और सुनीता महिया

8 मार्च 2022 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री मनसुख मंडाविया ने कोविड टीकाकरण कार्य में उत्कृष्ट योगदान देने वाली राजस्थान की महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्रीमती कौशल्या ए.एन.एम. सांगानेर, जयपुर और सुनीता महिया ए.एन.एम. सीएचसी मकराना, नागौर को प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

  • उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्रीमती कौशल्या ने 76 हजार से ज्यादा लोगों का टीकाकरण करवाया वही ए.एन.एम सुनीता महिया ने 74 हजार से ज्यादा लोगों का कोविड वैक्सीनेशन करवाया जो कि देश में रिकॉर्ड उपलब्धि है।

राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड एवं बाड़मेर लिग्नाईट माइनिंग कम्पनी लिमिटेड ‘‘राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार’’ (खनन) से सम्मानित

9 मार्च 2022 को राजस्थान स्टेट माइन्स एण्ड मिनरल्स लिमिटेड एवं इसकी बाड़मेर लिग्नाईट माइनिंग कम्पनी लिमिटेड को ‘‘राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार’’ (खनन) से सम्मानित किया गया। नई दिल्ली के विज्ञान भवन में केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री द्वारा यह प्रतिष्ठित पुरस्कार विजेता खदानों के प्रतिनिधियों को प्रदान किये गए।

  • राष्ट्रीय स्तर के यह पुरस्कार पिछले चार वर्षों के दौरान खदानों द्वारा उत्कृष्ट सुरक्षा प्रदर्शन को देखते हुए दिए गए हैं। आर.एस.एम.एम.एल. को वर्ष 2019 एवं 2020 एवं बाड़मेर लिग्नाइट माइनिंग कम्पनी लिमिटेड को वर्ष 2017 एवं 2018 के लिए ‘राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार’ से नवाजा गया।

राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार (खनन)

केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा खदानों के सुरक्षा मापदण्डों के बीच स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा को विकसित करने के लिए यह राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार कोयला, धातु और तेल को खदानों को प्रतिवर्ष दो श्रेणियों में प्रदान किये जाते हैं। इन पुरस्कारों के अन्तर्गत कड़े सुरक्षा मापदण्डों जैसे लगातार तीन वर्षों तक शून्य दुर्घटना दर, खदान में कार्य करने वाले कामगारों की पूर्ण सुरक्षा व नियमित स्वास्थ्य परिक्षण जैसे आंकड़ों को दृष्टीगत रखा जाता है।

राजस्थान समसामयिकी मार्च 2022 / राजस्थान समसामयिकी मार्च 2022

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: © RajRAS