कालीसिंध नदी

कालीसिंध नदी – सहायक नदियाँ, बाँध

कालीसिंध नदी का उद्गम देवास (मध्य प्रदेश) के पास बागली गाँव की पहाड़ियों से होता है।यह नदी झालावाड़ में रायपुर के निकट बिन्दा गाँव से राजस्थान में प्रवेश करती है। राजस्थान में यह झालावाड़,बारां तथा कोटा में बहते हुए नौनेरा(कोटा) नामक स्थान पर चम्बल नदी में मिल जाती है।

कालीसिंध नदी संक्षिप्त सारणी

उद्गमदेवास (मध्य प्रदेश) के पास बागली गाँव की पहाड़ियों से
लम्बाई278 किमी. (राजस्थान 150 किमी.)
सहायक नदियाँआहू, परवन, निवाज व उजाड़
मुहानानौनेरा(कोटा) नामक स्थान पर चम्बल नदी में
बहाव क्षेत्रराजस्थान : झालावाड़,बारां तथा कोटा
नदी संगम या किनारे पर बने दुर्गगागरोन का किला : आहु व काली सिंध नदी के संगम पर

कालीसिंध नदी की प्रमुख सहायक नदियाँ

परवन नदी

  • परवन नदी अजनार व घोड़ा पछाड की संयुक्त धारा है।
  • यह मध्यप्रदेश की विंध्याचल पर्वत श्रेणी से निकलती है तथा झालावाड के मनोहर थाना में राजस्थान में प्रवेश करती है।
  • झालावाड़ व बांरा में बहती हुई बांरा में पलायता गांव में काली सिंध में मिल जाती है।
  • झालावाड़ जिले के मनोहर थाना तहसील के बडबद ग्राम पंचायत में परवन नदी व नेवज नदी का संगम होता है जहाँ चाचोरनी ग्राम स्थित है।इस संगम पर एक शिवलिंग व एक किला भी स्थित है।
  • इस नदी के किनारे बारां जिले में शेेरगढ(कोषवर्द्धन) का किला तथा शेरगढ़ अभ्यारण भी स्थित हैं
  • वर्तमान में परवन वृहद सिंचाई परियोजना भी इसका एक हिस्सा है।
  • झालावाड़ के मनोहरथाना गाँव में कालीखाड(घोड़ापछाड़) का परवन नदी में संगम होता है तथा यहीं पर मनोहरथाना का जलदुर्ग स्थित है।
  • सहायक नदी -कालीखाड़/घोड़ापछाड़ (मनोहर थाना) व नेवज ( चाचोरनी )

परवन नदी संक्षिप्त सारणी

उद्गममध्यप्रदेश की विंध्याचल पर्वत श्रेणी से
लम्बाई233 किमी.
मुहानाबांरा में पलायता गांव में काली सिंध में
बहाव क्षेत्रमध्यप्रदेश
राजस्थान : झालावाड़ व बांरा
नदी संगम या किनारे पर बने दुर्गमनोहरथाना दुर्ग : परवन व कालीखाड़ नदियों के संगम पर
शेरगढ़ दुर्ग : परवन नदी के किनारे
नदियों में या उनके निकट स्थित अभ्यारण्यशेरगढ़ अभ्यारण्य (बाराँ) : परवन नदी

आहू नदी

  • यह मध्यप्रदेश के सुसनेर के निकट मेहँदी गाँव से निकलकर झालावाड़ के नन्दपुर से राजस्थान में प्रवेश करती है।
  • झालावाड़ व कोटा में बहती हुई झालावाड़ के गागरोन में कालीसिंध और आहू का संगम होता है।
  • गागरोन का प्रसिद्ध जलदुर्ग इसी संगम पर स्थित है।

उजाड़ नदी

  • उजाड़ नदी पर झालावाड़ जिले की खानपुर तहसील के ग्राम मऊ बोरदा में भीमसागर बाँध बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: © RajRAS