राजस्थान का युद्ध: 738

राजस्थान के महत्त्वपूर्ण युद्ध

राजस्थान का  युद्ध  (या युद्ध की श्रृंखला), 738 ए.डी. में तत्कालीन सिंध-राजस्थान की  सीमा पर हुआ । इस युद्ध में, गुर्जर-हिंदू गठबंधन ने अरब आक्रमणकारियों को हराया और सिंधु नदी के पूर्वी क्षेत्र से अरब आक्रमणकारियों और लूटेरों को पीछे धकेल दिया और पूरे भारत की रक्षा की।

मुख्य भारतीय राजा जिन्होंने अरबों पर विजय के लिए योगदान दिया था:

  • गुर्जर-प्रतिहार राजवंश का नागभट्ट प्रथम
  • राष्टकूट साम्राज्य के जयसिम्हा वर्मन
  • मेवाड़ के हिन्दू साम्राज्य के बाप्पा रावल

राजस्थान का युद्ध: पृष्ठभूमि

7वीं शताब्दी के अंत तक इस्लाम एक शक्तिशाली धर्म बन गया था और अरब एक  शक्तिशाली सेना । मोहम्मद इब्न कसीम ने ईरान और अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया था । उनके उत्तराधिकारी, जुनेद इब्न अब्द अल-रहमान अल-मुरी, ने 730 सी.ई. की शुरुआत में हिंदुस्तान क्षेत्र में एक बड़ी सेना का नेतृत्व किया। अपनी सेना  को दो हिस्सों  में बांटकर उन्होंने दक्षिणी राजस्थान, पश्चिमी मालवा और गुजरात के कई शहरों में लूटपाट की।

अरब बलों की शक्ति का अनुभव करते हुए प्रतिहारा  राजा, नागभट्ट प्रथम ने राष्ट्रकूट साम्राज्य के जयसिम्हा वर्मन के साथ संयुक्त मोर्चा दिखाने का आग्रह किया। जयसिम्हा ने आग्रह स्वीकार किया और अपने पुत्र अवनिजनश्रया  पुलकेसी को नागभट्ट प्रथम को समर्थन देने के लिए भेजा । दोनों सेनाएं राजस्थान की सीमा पर पहले से ही युद्ध कर रही  बप्पा रावल के नेतृत्व वाली राजपूत सेना में सम्मिलित हुई ।

राजस्थान का अंतिम युद्ध  और परिणाम:

इस युद्ध में 5000-6000 राजपूत-गुर्जर पैदल सेना और घुड़सवारों  ने 30,000 से अधिक अरबी सेना का सामना किया । युद्ध के  दौरान  बप्पा रावल के नेतृत्व वाली  राजपूत सेना अरबी नेता अमीर जुनैद को मारने में सफल रही । अरब इतिहासकार सुलेमान के शब्दों में, “मुसलमानों को भाग कर शरण लेने का स्थान भी नहीं मिल पाया था।”

अरबों को अपनी हार से उबरने में काफी समय लग गया। जुनेद के उत्तराधिकारी तमीम इब्न ज़ेड अल-उत्बी ने राजस्थान के खिलाफ एक नए युद्ध की रचना की लेकिन किसी भी क्षेत्र पर कब्ज़ा करने  में असफल रहे। इस प्रकार, भारतीय राज्यों की तिहरी संधि ने कम से कम अगले 200 वर्षों तक अरब आक्रमणकारियों से हिंदुस्तान को बचाया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *